धन लाभ के लिए शुक्रवार की रात 12 बजे के बाद इलायची का यहाँ उपाए करे, जानिए।

आज हम आपको इलायची का एक उपाय बताते हैं, जो आपकी हर इच्छा को पूरा करने के साथ ही धन और समृद्धि भी प्रदान करेगा। ध्यान रखें कि ये क्रियाएं शुक्रवार रात 12 बजे के बाद ही की जानी चाहिए।

 इस मुआवजे को कैसे करें

 - शुक्रवार रात 12 बजे से पहले हाथ-पैर अच्छे से धोएं और सफेद कपड़े पहनें।

 इसके बाद घर की शांत और साफ जगह पर एक्जाम सीट पर बैठी हुई मां लक्ष्मी की तस्वीर स्थापित करें।

 - अब इस चित्र के सामने 3 इलायची रखें और अपने देवता का ध्यान करें। फिर, लक्ष्मी देवी - विष्णु से प्रार्थना करें, अपनी इच्छा पूरी करने और सभी कठिनाइयों को दूर करने के लिए शुक देव से प्रार्थना करें। फिर 21 बार शुंक्राय नमः) मंत्र का जाप करें।

 अब अपने दाहिने हाथ में तीन इलायची रखें और नवग्रहों का ध्यान करते हुए अपनी परेशानियों को दूर करें।

 - इसके बाद मुट्ठी खोलें और 3 बार फेंटें। अब इलायची को एक कटोरे में रखें और इसे मुख्य द्वार पर ले जाएं।

 - कटोरी में कपूर डालें और बेक करें। जब इलायची पूरी तरह से जल जाए तो उसे तुलसी के पौधे में रख दें।

 यदि यह तुलसी नहीं है, तो यह नदी में भी प्रवाहित होगी। कुछ ही दिनों में आपको असर दिखना शुरू हो जाएगा।

प्रचलित मान्यता के अनुसार, गुरुवार के दिन कुछ काम करना शुभ नहीं माना जाता है। लोगों का मानना ​​है कि गुरुवार को कुछ नहीं करने से जीवन पर नकारात्मक असर पड़ेगा और इससे वित्तीय संकट पैदा होगा। धार्मिक शास्त्रों के अनुसार, गुरुवार को बृहस्पति देवी के पास कुछ चीजें कमजोर थीं। बता दें कि गुरुवार बृहस्पति दिवस है। यह माना जाता है कि एक सुखी पारिवारिक जीवन, शिक्षा, ज्ञान और धन केवल उनकी कृपा से प्राप्त किया जा सकता है।

 - ऐसा माना जाता है कि गुरुवार को नाखून नहीं काटने चाहिए। शेविंग की भी आज अनुमति नहीं है। ऐसा करने से माना जाता है कि यह बृहस्पति के लिए बुरे परिणाम लाता है।

 - धार्मिक मान्यता है कि महिलाओं को गुरुवार के दिन बाल नहीं धोने चाहिए। यह धन और समृद्धि को कम करने के लिए कहा जाता है।

 पिता, गुरु और संत बृहस्पति का उल्लेख करते हैं। इसलिए उनका कभी अपमान न करें।

 - गुरुवार को कपड़े न धोएं। केला नहीं खाना चाहिए। गुरुवार के दिन केले के पेड़ की पूजा की जाती है।

Post a Comment

0 Comments